国产在线精品_亚洲日本在线欧美经典_亚洲色欲色欲在线看_在线综合-亚洲-欧美中文字幕
article
Jun 03, 2020, 20:03 IST

?????? ??? : ???? ??? ?? ??????? ?????? ?? ????...

306
?????
0
?????
?????????? ????? ??? ??????

रामायण के एक प्रसंग के अनुसार जब लंका तक पहुंचने के लिए पुल का निर्माण किया जा रहा था तब वानर सेना के सभी सदस्य पत्थर पर राम नाम लिखकर उसे समुद्र में फेंक रहे थे और आश्चर्यजनक रूप से वह पत्थर तैरने लगते थे। इस दृश्य को देखज्कर भगवान श्रीरम ने सोचा क्यों ना मैं भी पत्थर पानी में डालकर अपनी सेना की सहायता करूं।


लेकिन जैसे ही श्रीराम ने पहला पत्थर फेंका वह नदी में डूब गया.... जबकि अन्य सभी पत्थर तैर रहे थे। वे बहुत परेशान हो गए... जब हनुमान जी ने उनसे उनकी परेशानी का कारण पूछा तो उन्होंने सारा हाल बताया।

हनुमान जी बोले...’जिसे प्रभु राम त्याग देंगे.. वो कैसे तैर सकता है.. उसका डूबना तो निश्चित है...’।




राम नाम में बहुत शक्ति है लेकिन हनुमान जी के बिना प्रभु राम भी अधूरे से ही है... अगर आप भगवान राम को प्रसन्न करना चाहते हैं तो आपको पवनपुत्र की कृपा भी अवश्य प्राप्त करनी चाहिए... ये खूबसूरत भजन आपको उन दोनों के खूबसूरत संबंध का परिचय दे सकता है :


राम ना मिलेगे हनुमान के बिना।

श्री राम ना मिलेंगे हनुमान के बिना।

वेदो ने पुराणो ने कह डाला,

जीये हनुमान नही राम के बिना,

उन्हे हनुमान बड़े प्यारे है।

रास्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना।

जिनका भरोसा वीर हनुमान,

लक्खा कहे सुनो हनुमान के बिना,


0 ?????
?????
0 ???????? ???? ????? ???????? ???? ?????
 
?????? ????? ?????? ?????
国产在线精品_亚洲日本在线欧美经典_亚洲色欲色欲在线看_在线综合-亚洲-欧美中文字幕